महिलाओं को माहवारी के दिनों में कमर-पेट दर्द के कारण और ईलाज

female menstrual cycle remedy, girls ladies me MC periods cycle ki problem in hindi, woman monthly, mahwari medicine, mere pet me pain ke dard ki desi dawa, upay ilaj upchar, India ladki, masik chakra at home, gharelu tarika, harbal, side effect, ke lakshan, blooding tension, adhik khoon aana, stri kamar me dard,mc ke dino me dard ka karan, How to Relieve, orton ke rog ka ilaj

In women, Back pain & Stomach pain due to Menstruation Cycle and it's Treatment

महिलाओं को माहवारी / मासिक धर्म (menstrual cycle) के दिनों मे काफी परेशानियों का सामना करना पडता है। उन दिनों मे महिलाओं के अधिक रक्त पडने के कारण उनके शरीर के कमजोरी आ जाती है। साथ ही साथ उनको कई बीमारीया भी घेर लेती है जैसे कमर दर्द, बदन का दर्द, अधिक थकान का रहना । यह कारण Woman के Monthly Cycle को काफी मुश्किल बना देते है। वैज्ञानिक तौर बताया जाए तो इन सब का कारण एंडोमेट्रीओसिस हो सकता है ।
खास तौर पर देखे तो  मे महिलाओं मे कमर दर्द आम रहता है आज हम अपने इस आर्टिकल के जरीए आपको यह बताने जा रहे कि ladies को MC दिनो मे क्यो कमर के दर्द का सामना करना पडता है क्या है इसकी वजह, और किस तरह से आप इसको कंट्रोल मे ला सकते है। जो कि कुुछ इस प्रकार से हमारे आर्टिकल मे बताए गए हैै।

Causes - Back Pain During Period

क्या होती है वजह -
स्त्रियों मे पेट दर्द और कमर का दर्द की बीमारी आम होती है लेकिन यह बीमारी पीरियड के दिनों और भी ज्यादा परेशानी भरा बना देती है। महिलाओं के गर्भाशय की आंतरिक सतह जिन्हे वैज्ञानिक भाशा मे एंडोमेट्रियम कहा जाता है जिसमे प्रतिमाह कई तरह के बदलाव आते है और महावारी के रूप मे इसका कुछ भाग रक्त स्त्राव के साथ निकल जाता है। एंडोमेट्रियम जैसी सतह जब गर्भाशय के अलावा अन्य अंगो जैसे ’ओवरी, फैलोपियन ट्यूब, आंतो आदि मे विकसित हो जाती है, तो यह अवस्था एंडोमेट्रिओसीस कहलाती है। हालांकि एंडोमेट्रियम की प्रवृति संकुचन की हेाती है, जिसके कारण महिलाअेां मे कमर दर्द व शरीर के अन्य अंगो मे दर्द की समस्या रहती है।

Symptoms & Problems

लक्षण व अन्य परेशानियाँ
आम तौर पर देखा जाए तो महिलाओ के महावारी के दिनों मे पेट के निचले भाग व कमर मे तेज दर्द होना व शरीर के अन्य का दर्द होना ही इसका लक्षण होता है। कई कई बार तो ऐसा होता है कि महिलाओ को असहनिय दर्द होता है जिसके कारण उनको कई दर्द निवारण के लिए दवाईया भी लेनी पडती है। इस कारण महिलाओं के आंतरीक शरीर का भाग ओवरी इससे ज्यादा प्रभावित होता है। कुछ महिलाओं मे कई बार देखा जा सकता है कि महावारी के दिनों मे रक्त इक्ट्ठा होकर एक गांठ का रूप ले लेती है। जिसे वैज्ञानिक भाषा मे चाॅकलेट सिस्ट कहा जाता है। कुछ महिलाओं मे सिस्ट से फैलोपियन ट्युब, आंते , योनि का भाग व मुत्राष्य भी चिपक जाता है ऐसी स्थिति मे वह गांठ का आकार बडा रूप ले लेती है। और तमाम परेशानियाँ का कारण बन जाती है। इसकी एक सबसे बडी होती है कि फैलोपियन ट्युब अवरूद्ध होने से निःसंतानता की समस्या सामने आती है।

Leave a reply