रुद्राक्ष - How to identify genuine original Rudraksha and Types

रुद्राक्ष - How to identify genuine original rudraksha, Types, Mala, Benefit  in hindi, kaise kare asli genuine rudraksha ki pahchan, kya hai, jankari in hindi, test, type, Profit, labh, upay, what is, benefit, fayde, prakar, how to use rudraksha mala, wear, japa, pahchane, perfect, purity, 

How to identify the original Rudraksha -

(कैसे हो ओरिजिनल रुद्राक्ष की पहचान)

  • Rudraksha चाहे कितने ही मुख का हो या किसी भी आकार का यदि वह पूर्णरूप से पका हुआ हो तो उसे पानी में डालने पर रुद्राक्ष कुछ समय तैरता है और धीरे- 2 डूब जायेगा, ऐसा ही रुद्राक्ष original Rudraksha होता है.
  • यदि ताम्बे के सिक्कों के बीच रुद्राक्ष को रखकर दबाया जाये तो वह तुरंत ही दिशा बदल लेता है. और यदि दो ताम्बे के बर्तनों के बीच इसे रखा जाये तो इसमें कुछ गति आती है और यह हल्का सा हिलने लगता है, माना जाता है की इसमें थोडा सा चुम्बकीय गुण मौजूद होता है.
  • यदि इसे कुछ घंटों तक पानी में डालकर बॉईल किया जाने पर भी रंग न निकले तो यह ओरिजिनल रुद्राक्ष होगा. दो असली रुद्राक्षों की उपरी सतह यानि के पठार समान नहीं होती किंतु नकली रुद्राक्ष के पठार समान होते हैं.
  • असली रुद्राक्ष को तेज धुप ज्यादा देर तक रखने पर  भी रुद्राक्ष में दरारें नहीं आती है.
  • एकमुखी रुद्राक्ष को गौर से देखने पर आंख या त्रिशूल सी आकृति दिखाई पड़ती है.

Rudraksha एक ख़ास किस्म के पेड़  के बीज होते है. वैज्ञानिक शोध के अनुसार रुद्राक्ष धारण करने से व्यक्ति में बदलाव, चुम्बकीय आकर्षण, आत्मविश्वास तथा भौतिक सुखों को प्राप्त करने के योग बनाता है.  शास्त्रों के अनुसार रुद्राक्ष हमरे शरीर की एनर्जी क फ्लो सही बनाकर मानसिक, आध्यात्मिक और शारीरिक स्वास्थ्य प्रदान करते है. ये भुत ही दुर्लभ होते है. हर रुद्राक्ष का अपना एक असर होता है.

आगे पढ़िए Page 2

Leave a reply