कालसर्प योग दोष - What is Kaal Sarpa Yoga Dosh in Kundli, How many Types, Effects on Life

कालसर्प योग दोष - know about What is Kaal Sarpa Yoga Dosh in Any Kundli in Hindi, How many Types of Kaal Sarp Dosh, Kya prabhav hai, pahchan, identification, hani, labh, good, bad, problems solution, Effects on Life, kaise hota hai, banata kyo hai, kya ilaj hai, upay sambhav hai, chutakara dilayen, rahu aur ketu, pooja path, mantra, remedy, treatment, sujhav, samay, kab jyada pareshan karega, sarp puja, dosh nivaran, Special Punishment Period

कालसर्प योग दोष - What is Kaal Sarpa Yoga Dosh in Kundli, How many Types, Effects on Life

किसी जातक की कुंडली में राहू-केतु (आमने सामने) के बीच सभी ग्रह हो तो ऐसी स्थिति में "काल सर्प योग Kaal Sarp Yog Dosh" बनता है. एक प्रकार से अन्य सभी ग्रहों को राहू और केतु निगल लेते है. काल सर्प योग के प्रभाव से जातक के  भाग्योदय में रोड़े पड़ जातें है. इससे जातक को जीवन में बड़ा ही संधर्ष करना पड़ता है. चारों तरफ से उसे निराशा का सामना करना पड़ता है. जीवन के हर स्तर पर उसे मुसीबतों का सामना करना पड़ता है.  इससे व्यक्ति को सदा नौकरी, बिज़नेस, संपत्ति, छल, कपट, बीमारी आदि का भय रहता है. सामान्यतया Kaal Sarp Yog जिसकी Kundli में होता है वें सदैव दूसरों के लिए ही जीते हैं.

"राहू" अर्थात काल और "केतु" अर्थात सर्प -  इसीलिए दोनों को जोड़कर कालसर्प !

पुराने ग्रंथों में Kaal Sarp Yog का कोई भी उल्लेख नहीं मिलता है, परन्तु आधुनिक ज्योतिष में इसके बड़े ही विचलित कर देने वाले परिणाम बतलाये गए है.

Special Punishment Period in Kaal Sarp Yog Kundli (विशेष दंड समय)

  1. राहू की दशा, अन्तर्दशा और प्रत्यंतर दशा में.
  2. गोचर में राहू के अशुभ होने पर

काल सर्प योग के प्रकार Type of Kaal Sarp Yog

राहू और केतु के कुंडली में विशेष स्थान पर बैठने पर अलग अलग प्रकार के Kaalsarp Dosh बनते है. और इनके प्रभाव भी अलग अलग ही होते है.

1 वासुकी काल सर्प योग Vasuki

2 पदम् काल सर्प योग Padam

3  पातक काल सर्प योग Patak

4  शंखपाल काल सर्प योग shankhapal

5  शेषनाग काल सर्प योग shesh Nag

6 विषाक्त काल सर्प योग Vishakt

7 अनंत काल सर्प योग Anant

8  तक्षक काल सर्प योग  Takshak

9  महापदम काल सर्प योग Mahapadam

10 शंखनाद काल सर्प योग Shankh Nad

11 कुलिक काल सर्प योग  Kulik

12 कर्कोटक काल सर्प योग Karkotak

Kaal Sarp Yog' s Effect on Kundli Life

कालसर्प योग का व्यक्ति के जीवन पर प्रभाव

  • जीवन में संघर्ष अधिक रहता है और पूरा कर्म फल नहीं मिलता.
  • विवाहित जीवन में सुखों में कमी रहती है.
  • पुत्र सुख कम जातक को ही प्राप्त हो पाता है.
  • किसी और की जरुरत पड़ने पर इस योग वाला व्यक्ति उनकी सहायता कर सकता है किन्तु स्वयं पर समस्या या कष्ट आने पर कोई भी सहायता नहीं करता.
  • Business में बड़ा घाटा आदि लगने की सम्भावना सदैव बनी रहती है.
  • अच्छी पढाई करने के बाद भी उसका पूरा प्रयोग नहीं कर पता है.
  • अपने मूल स्थान से दूर रह कर ही कमाई कर पता है और घर के सुख से वंचित रहना पड़ता है.
  • Kaalsarp dosh वाली kundli वाले व्यक्ति की पत्नी के गर्भपात (miscarriage) बार बार होता है.
  • पूर्वजो की संपति नहीं मिलती है और भाई से किसी भी लाभ नहीं होता.
  • धन की हानि होती है.

काल सर्प योग एक प्रकार से श्रापित योग होता है, इसका दोष मुक्ति हेतु निवारण या शांति करवाना अति आवश्यक माना जाता है. पीड़ित जातक को नाग पंचमी के दिन उपवास रखकर कर विधि विधान से पूजा अर्चना करने लाभ प्राप्त होता है. पूर्ण शांति के लिए शिवलिंग पर प्रतिदिन मीठा (चीनी मिला)और भाँग युक्त दूध चढ़ाएँ.

  कालसर्प दोष योग के सरल पूजा उपाय  Kaal Sarpa Yoga Dosh ke Nivaran upay, Puja, Mantra

सभी पाठकों से निवेदन है की इस लेख  “कालसर्प योग दोष - What is Kaal Sarpa Yoga Dosh in Kundli, How many Types, Effects on Life” पर आप अपने अमूल्य Comments को अवश्य देवें.

हमसे जुड़ने के लिए हमारा facebook पेज like करें facebook.com/dainiktime

कालसर्प योग दोष - What is Kaal Sarpa Yoga Dosh in Kundli, How many Types, Effects on Life

13 Comments


  1. shobhit yadav
    July 26,2016

    please send patak kal sarp yog ke upay in hindi

Leave a reply