क्या आप मज़ाक के पात्र तो नहीं है ?

devlopment

क्या आप मज़ाक के पात्र तो नहीं है ? personality development tips in Hindi

1. क्या आप बिना सोच-विचार के, मौका एवं परिस्थितियों को देखे बिना जोर-जोर से बोलते है?
2. आप हमेशा अपनी ही बातो एवं विचारों को सही एवं केवल सही बताते है। और कोई नहीं मानता, तो आप जिद्द पर अड़ जाते है या नाराज हो जाते है?
3. आप जरूरत से ज्यादा सीधा, सभ्य एवं सम्वेदनषील दर्षाते है तथा हमेषा ऐसी भाव-भंगिमाएँ बनाते है कि जैसे आप कुछ जानते ही नहीं तथा जरूरत से ज्यादा औपचारिकता के साथ बात करते है या फिर जरूरत से ज्यादा तेज, समझदार एवं ज्ञानी समझते है।
4. बातों के दौरान आपका बर्ताव एवं हरकतें छोटे बच्चों जैसी हाती है?
5. जब भी आप बात करते है, तो अपने मुँह से अपनी खुद की तारीफ करते है?
6. आप अपनी ही बात करते रहते है, दूसरी की सुनते ही नहीं और यदि सुनते भी हैं तो बिना माँगे अपनी राय देते रहते है?
7. झूठ बोलना, गप मारना, लम्बी-लम्बी हाँकना तथा काल्पनिक बातें करना आपकी आदत है?
8. क्या आप दूसरों की बात खत्म होने से पहले ही अपनी बात शुरू कर देते है?
9. आपकी हँसी एवं हंसने का तरीका जरूरत से ज्यादा तेज एवं भिन्न है तथा आप बिना वजह से हँसते रहते है ?
10. बातचीत के दौरान आप जरूरत से ज्यादा ही हाथ, आँख या गर्दन को हिलाते है?
11. बातें करते समय अधिकतर आपके थूक की छीटें सामने वाले पर अवष्य पड़ती है?
12. आप स्वयं अपनी कही हुई बातों को पुनः दुहराते है?
13. बातें करते-करते कब आपकी अँगुली, नाक-कान में चली जाती है, आपको पता ही नहीं चलता?
14. आप संजीदा बातों पर भी हँसते तथा सामने वाले की बातों को मजाक में टाल जाते है?
15. विषय भले ही कोई सा भी हो आप बोलते जरूर है तथा हर विषय पर जरूरत से ज्यादा बोलते है?

तो कृपया संभल जाइए और उपरोक्त आदतों को बदलने की कोशिशों में लग जाइये. ऐसा करने पर आप स्वयं प्रभाव को महसूस करने लग जायेंगे.

सभी पाठकों से निवेदन है की इस लेख  “क्या आप मज़ाक के पात्र तो नहीं है ?” पर आप अपने Comments  अवश्य देवें और जानकारी को अधिक से अधिक अपने रिश्तेदार, मित्र आदि के साथ Share करें ताकि पुरे India से dengue, मलेरिया आदि मच्छरों द्वारा फैलाई ज रही बीमारियों की रोकथाम की ज सके.

हमसे जुड़ने के लिए हमारा facebook पेज like करें facebook.com/dainiktime

 

facebook

rashifal 18+ onlyHealth tips

Leave a reply