बारह ज्योतिर्लिंग महादेव - Dwadash 12 Jyotirling Hindu Tirth Darshan India Tour Planning

Dwadash Jyotirling in hindi, ke nam, kaise pahunche, jayen, darshan, barah mahadev, shiv, ling, hindu tirth sthan, in India, bharat, tour plan, how to, what is, ke roop, somnath,in Hindi

shiv

बारह ज्योतिर्लिंग महादेव - Dwadash 12 Jyotirling Hindu Tirth Darshan India Tour Planning

 

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग  (Somnath Jyotirling)

प्रथम ज्योतिर्लिंग गुजरात के सौराष्ट्र में स्थित है. सोम + नाथ अर्थात् चंद्र का नाथ, चन्द्रमा ने तपस्या करके भगवान शिव को प्रसन्न किया इसीलिए इस स्थान पर भोलेनाथ सोमनाथ कहलाए. प्राचीन मंदिर को बाह्य मुस्लिम आक्रमणकारियों ने तोड़ फोड़ दिया था, बाद में सरकारी स्थापत्य विभाग ने पुराने अवशेषों के अनुरूप नए मंदिर का निमार्ण सन 1951 में किया. माना जाता है की मंदिर निमार्ण में संसार के सभी देशों की मिटटी, सभी पवित्र मानी जाने वाली नदियों का जल और सभी समद्र का जल आदि को उपयोग लेकर मंदिर का मुहूर्त किया गया. बाबा भोलेनाथ क इस मंदिर में बाबा के अत्यंत दुर्लभ श्रृंगार के दर्शन होते है. शिव भक्त को इस मंदिर के दर्शन का लाभ अवश्य ही प्राप्त करना चाहिए.

यहाँ सम्पूर्ण भारत से तीर्थ यात्री बाबा सोमनाथ की कृपा से अपने सभी पापों से मुक्ति पा लेते हैंतथा मनवांछित फल प्राप्त करते हैं. मंदिर परिसर के पास ही सोमनाथ ट्रस्ट द्वारा संचालित काफ़ी धर्मशालाएं है, जो की नाम मात्र की सहयोग राशि में उपलब्ध है.इसके अलावा होटल, लोज आदि भी विकल्प मौजूद है.

Distance from Ahmedabad to Somnath

  • Road - 406 KM (Travelling Time - 07 Hours Approx.
  • Train Root - 432 Km - Train No. 19221 - Somnath Express, (Travel Time - 08:25 Hours)

श्रीशैल मल्लिकार्जुन

दक्षिण के कैलाश पर्वत के नाम भी
मद्रास में कृष्णा नदी के श्री शैल मल्लिकार्जुन शिवलिंग।

उज्जैन महाकालेश्वर शिवलिंग

ओंकाइरेश्वर ममलेश्वर 
मध्यप्रदेश के ओंकारेश्वर में नर्मदा तट पर पर्वतराज विंध्य की कठोर तपस्या से खुश होकर वरदान देने यहां प्रकट हुए थे

नागेश्वर 
गुजरात के दारूका वन के निकट स्थापित नागेश्वर ज्योतिर्लिंग।

बैद्यनाथ

महाराष्ट्र के परली

भीमशंकर 
महाराष्ट्र की भीमा नदी के किनारे स्थापित भीमशंकर ज्योतिर्लिंग।

त्र्यंम्बकेश्वर 
नासिक (महाराष्ट्र) से 25 किलोमीटर दूर त्र्यंम्बकेश्वर में स्थापित ज्योतिर्लिंग।

घुष्मेश्वर 
महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में एलोरा गुफा के समीप वेसल गांव में स्थापित घुष्मेश्वर ज्योतिर्लिंग।

केदारनाथ 
हिमालय का दुर्गम केदारनाथ ज्योतिर्लिंग। उत्तराखंड में स्थित है।

विश्वनाथ 
बनारस के काशी विश्वनाथ मंदिर में स्थापित विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग।

रामेश्वरम्‌ 
त्रिचनापल्ली (मद्रास) समुद्र तट पर भगवान श्रीराम द्वारा स्थापित रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग। (

रामेश्वरम् ज्योतिर्लिंग – Rameshwaram Jyotirling Darshan, Tirth Yatra of Mahadev Temple, India)

facebook

rashifal panchang18+ onlyHealth tipsgovt jobs

 

कैसे पहचाने असली रत्नों को तथा इनके प्रभावों को ! How To Identify The Real Gems And Their Effects

Nine key Secrets formula to Success ( सफलता के महत्वपूर्ण नौ सूत्र )

जानें कौन से है वो व्यापार जो कर सकते है कम पूंजी या बिना पूंजी के

रत्न धारण – Gems Stones Astrology Know Stone As Per Name And Rashi

Leave a reply