जाने क्या है खर्राटे आने के कारण, दुष्प्रभाव और कैसे मिले मुक्ति

खर्राटे आने के उपाय, snoring problem solutions naturally in hindi , natural remedies for snoring, cures, kharrate lena kaise roke ki medicine dawa, sleeping time sound, लेना - जाने क्या है खर्राटे आने के कारण, दुष्प्रभाव और रोकने के टिप्स, How to stop Snoring desi indian tips, Causes, Naturally Treatment at Home, Yoga, natural remedies for snoring problems, kharrate ke karan, upay, ilaj, gharelu upchar, kya karen, chutkara paye, lena roke, kis prakar, mukti mile, tarika, totka, labh, fayda, theek,  means in english, What is Snoring, is it any desise or a normal thing, स्लीप एपनिया, Causes of Snoring, old jukam, Effect of Snoring, Treatment, sleeping position change, Reduce Heavy Weight, Yoga, 

 

खर्राटे - How to stop Snoring, Causes, Treatment at Home

जाने क्या है खर्राटे आने के कारण, दुष्प्रभाव और कैसे मिले मुक्ति

आज देखा जाए तेा कई युवाओं मे खर्राटे की बीमारी देखी जा सकती है। यह बीमारी धीरे-धीरे कब एक यह बीमारी कब बडा रूप ले लेती है पता ही नहीं चलता है खर्राटेे, एक बीमारी है जिसकी परेशानी आपके परिवार वालों को भुगतनी पडती है। आज हम अपने इस आर्टिकल के जरीए बताते है की आपको खर्राटे से छुटकारा पाने के लिए क्या-क्या उपाय करने चाहिए।

What is Snoring

क्या है खर्राटे:-
कई लोगो मे रात या फिर दिन मे सोने के दौरान उनके सांस से तेज आवाज आती है और साथ मे कंपन होता है जिसे खर्राटे (Snoring) कहा जाता है । कई बार यह खर्राटे आपके शरीर मे किसी भी प्रकार की बीमारी की ओर भी इशारा करते है । खर्राटों की आवाज इतनी तेज होती कि आपके साथ मे सोने वाले की शख्स की निंद तक को उडा सकता है या उसकी घंटो की नींद को भी खराब कर सकता है। कभी कभी Snoring का इलाज सहीं समय पर नहीं करवाने की वजह से यह एक खतरनाक बीमारी स्लीप एपनिया की वजह भी बन सकती है। स्लीप एपनिया एक ऐसा रोग है जिसमे सांस लेने की क्रिया कुछ सैकेण्ड के लिए बंद हो जाती है या सांस कम लेने लगते है। कुछ-कुछ लोग इस गम्भीर तकलीफ से जुझ रहे है इन लोगो को ऐसा एक घंटे मे 30 से भी अधिक बार हेाता है।

Snoring Causes

क्या होती है वजह:

मुहँ के निचले जबडे का छोटा होना:
आपके मुंह का निचला जबडा सामान्य से छोटा होने से लेटने पर जीभ पीछे की तरफ हो जाती है और सांस की नली मे अवरूद्ध पैदा कर देती है। ऐसे मे सांस लेने और छोडने के लिए दबाव डालना पडता है, जिसके कारण कम्पन्न होता है । कुछ-कुछ लोगो की नाक की हड्डि टेढी होती है जिसके कारण उनको सांस लेने मे दबाव डालना पडता है ।

ज्यादा वजन भी वजह:
कई-कई जगहो पर कुछ लोगो मे देखा गया की मोटे व्यक्ति मे यह समस्या काफी पाई जाती है । शरीर का जरूरत से ज्यादा बढता वजन भी खर्राटों को जन्म देता है।

गर्दन का छोटा होना:
यदि आपकी गर्दन छोटी होती है तो भी आपको सोते समय खर्राटो का सामना करना पडता है।

सांस की नली का संकारा होना -
सांस लेने वाली नली संकरी और कमजोर होती है, जिस कारण आसपास के टिश्यू मे कंपन होता है और सांस के साथ आवाज आने लगती है।

Snoring's Effect on Human Body

क्या है इसका असर -
ब्लड प्रेषर को बढाना - सांस लेने मे बार-बार रूकावट होने पर शरीर मे आॅक्सीजन का स्तर कम हो जाता है, जिससे रक्तचाप अधिक हो सकता है।

हृदय को नुकसान - शरीर मे आॅक्सीजन कम होते ही दिल को इसके लिए ज्यादा दबाव डालना पडता है। इस समस्या के बढने से दिल का दौरा भी पड सकता है।

स्ट्रोल का खतरा - कई बार खर्राटों की समस्या दिमाग पर भी असर डालती है। शरीर मे आॅक्सीजन का मीत्रा कम होने और कार्बनडाय-आॅक्साइड की मात्रा बढने से दिमाग पर दबाव बढ जाता है, जिससे स्ट्रोक्स की आशंका होती है।

फेफडों पर असर - मुंह खुला रखकर सोने से बिना छनी हवा मुंह के रास्ते अंदर जाती है, जिससे फेफडों को नुकसान पहुंचने का खतरा रहता है।

आलस और थकान - रात को नींद पूरी न होने पर दिन भर आलस और थकान महसूस होती है, जिससे मन भटकता रहता है जिससे व्यक्ति और अधिक चिडचिडा होने लगता है।

मोटापे की आशंका - सात घंटे की नींद पूरी न होने से व्यक्ति के हाॅर्मोन्स पर असर पडता है। इससे वजन बढना शुरू हो जाता है। वजन बढने से और भी ज्यादा खर्राटे आने लगते है ये दोनो चीजे एक-दूसरे से जुडी है।

और पढ़ें ...

NEXT 

Snoring Treatment at Home

ये करे ईलाज -
अगर समस्या गम्भीर है, तो बाजार मे मिलने वाली एंटी-स्नोरिंग डिवाइस (Anti-snoring device) का इस्तेमाल करें। सर्जरी के बारे मे भी सोचा जा सकता है, जो इस समस्या को जड से खत्म कर सकता है। पर इससे पहले कुछ हम आपको अपने घर मे करने वाले कुछ उपायों के बारे मे बताएगे जो की कुछ इस प्रकार से है -

1. यदि आपका वजन अधिक है, तो सबसे पहले शारीरिक श्रम व डायटिंग की मदद से वजन नियंत्रण मे लाएं।
2. पीठ के बल सोने के बजाय करवट लेकर सोएं और सिर को थोडा उंचा रखें। इससे सांस लेने के दौरान कोई भी तकलीफ नहीं होगी और सांस की नली मे रूकावट भी नही होगी।
3. नहाने के बाद और सोने से पहले आप अपनी नाक मे सरसों के तेल की 1-2 बॅुदों को डाल लें।
4. खर्राटे देखा तो यह सांस से जुडी भी समस्या है इसके लिए योगा करना बहुत फायदेमंद रहेगा।
5. Snoring Problem का कारण जीभ का मोटा होना भी होता है। ऐसे मे अपनी जीभ की नियमित रूप् से सफाई करना जरूरी है । इसके लिए ब्रश करते समय टंग क्लीनर का भी प्रयोेग करना भी आपके लिए बेहद फायदे मंद होगा ।

हमसे जुड़ने के लिए हमारा facebook पेज like करेंfacebook.com/dainiktime

स्मरण शक्ति - How to increase Memory power naturally Food, Yoga

स्मरण शक्ति - How to increase Memory power naturally Food, Yoga

Read More..

सफ़ेद बाल - white hair problem home solution tips - how to get black hair naturally

सफ़ेद बाल - white hair problem home solution tips - how to get black hair naturally

सफलता के सूत्र - How to get Success in life - 9 key Secret formula

Read More..

रुद्राक्ष - How to identify genuine original Rudraksha and Types

रुद्राक्ष - How to identify genuine original Rudraksha and Types

Leave a reply