How to Know your Mulank and Bhagyanak Based on Numerology

N

Know your Mulank and Bhagyank Based on Numerology

अंक शास्त्र के आधार पर जानिए अपना मूलांक और भाग्यंक

=======================

सकल विश्व के प्राणियों के कर्म व् भाग्य  ग्रहीय अंक १ से ९ के द्वारा प्रभावित होते हैं

ग्रहों की अनुकूलता की जानकारी अच्छाईयों के %मैं वृद्धि करती है और प्रतिकूलता की जानकारी ,आने वाली समस्यायों को नियंत्रित करने मैं सहायता करती है/तो आईये ,अंक गणना के आधार पर जानिए और संवारिये अपना भविष्य/

 

जानिए अपना मूलांक और भाग्यंक

--------------------------------------

किसी भी माह की 1, 10, 19, 28  दिनांक को जन्मे प्राणी का मूलांक होगा 1

इसी प्रकार

दि, 2, 11,  20 , 29  = 2

दि. 3, 12, 21, 30    = 3

दि.  4, 13, 22         = 4

दि 5, 14, 23           = 5

दि  6, 15, 24         = 6

दि, 7, 16, 25         = 7

दि 8, 17, 26         = 8

दि.9, 18, 27         = 9

===============================================

भाग्यांक जानने के लिए जोड़िए  जन्म  तिथि+माह+वर्ष

उदाहरण के लिए 2.7.1979 = 2+7+1+9+7+9 = 35 = 3+5 = 8

उक्त उदाहरण में मूलांक २ व भाग्यांक ८ है/

अत:व्यक्तिगत उप्ल्ब्धियों के लिए पढे अंक २ और भाग्य द्वारा क्या मिल रहा है,जानने के लिए पढे अंक ८

 

आपकी व्यक्तिगत उप्लाब्धियों को निर्धारित कर्ता है आपका मूलांक और भाग्य द्वारा प्रदत उप्लाब्धियाँ भाग्यांक द्वारा जानी जाती हैं

 

रजनी छाबड़ा

व. अंकशास्त्री

www.numeropath.com

rajni.numerologist@gmail.com

सभी पाठकों से निवेदन है की इस लेख  “How to Know your Mulank and Bhagyanak Based on Numerology” पर आप अपने अमूल्य Comments को अवश्य देवें. हमसे जुड़ने के लिए हमारा facebook पेज like करें facebook.com/dainiktime

facebook

rashifal 18+ onlyHealth tips

 

Leave a reply